यूनानी राजदूत मेगास्थनीज इनमें से किस शासक के दरबार में था?

[1] अशोक
[2] चंद्रगुप्त
[3] बिन्दुसार
[4] चाणक्य

उत्तर: (2] चंद्रगुप्त

व्याख्या: मेगस्थनीज (350 ईसा पूर्व-290 ईसा पूर्व) यूनान का एक राजदूत था जो चन्द्रगुप्त के दरबार में आया था। यूनानी सामंत सेल्यूकस ने भारत में फिर राज्य विस्तार की इच्छा से 305 ई. पू. में आक्रमण किया, किन्तु उसे संधि करने पर विवश होना पड़ा था। संधि के अनुसार मेगस्थनीज नाम का राजदूत चंद्रगुप्त के दरबार में आया था। वह कई वर्षों तक चंद्रगुप्त के दरबार में रहा। उसने जो कुछ भारत में देखा, उसका वर्णन उसने “इंडिका” नामक पुस्तक में किया है। मेगस्थनीज ने पाटलिपुत्र का बहुत ही सुंदर और विस्तृत वर्णन किया है। वह लिखता है कि भारत का सबसे बड़ा नगर पाटलिपुत्र है। यह नगर गंगा और सोन के संगम पर बसा है। इसकी लंबाई साढ़े नौ मील और चौड़ाई पौने दो मील है। नगर के चारों ओर एक दीवार है जिसमें अनेक फाटक और दुर्ग बने हैं। नगर के अधिकांश मकान लकड़ी के बने हैं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!