सर्वोच्च न्यायालय के “न्यायिक समीक्षा” कार्य का क्या अर्थ है?

(A) अपने स्वयं के निर्णय की समीक्षा करें
(B) देश में न्यायपालिका के कामकाज की समीक्षा करना
(C) कानूनों की संवैधानिक वैधता की जांच करें
(D) संविधान की समय-समय पर समीक्षा करना

उत्तर- [3] कानूनों की संवैधानिक वैधता की जांच करें

व्याख्या : सुप्रीम कोर्ट को यह तय करने की शक्ति दी गई है कि संसद या राज्य विधानसभाओं द्वारा पारित कानून और केंद्र या राज्य सरकार द्वारा लिए गए कार्यकारी निर्णय संवैधानिक हैं या नहीं। यदि ऐसा कोई कानून या कार्यकारी निर्णय असंवैधानिक पाया जाता है, तो वह इसे अमान्य घोषित कर सकता है।