संसदीय व्यवहार में “शून्य काल” दखल भारत में कब शुरू हुआ था?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

(A) 1952
(B) 1962
(C) 1972
(D) 1982

Ans: [B] 1962

व्याख्या: संसदीय व्यवहार में शून्य काल का आगमन भारत में 1962 से शुरू हुआ था। संसद के दोनों सदनों में प्रश्न काल के ठीक बाद के समय को शून्य काल कहा जाता है। यह 12 बजे प्रारम्भ होता है और एक बजे दिन तक चलता है। 

www.gkwiki.in

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now