रिट (Writ) या प्रलेख किस अनुच्छेद के तहत वर्णित है ?

(A) अनुच्छेद 31
(B) अनुच्छेद 30
(C) अनुच्छेद 17
(D) अनुच्छेद 32

उत्तर: (4) अनुच्छेद 32

व्याख्या: कॉमन विधि के सन्दर्भ में रिट (writ) या प्रादेश या समादेश का अर्थ प्रशासनिक या न्यायिक अधिकार से युक्त किसी संस्था द्वारा दिया गया औपचारिक आदेश है। आधुनिक उपयोग में, प्रायः ऐसी संस्था न्यायालय होती है। वारण्ट, परमाधिकार रिट (prerogative writs) तथा सपीना (न्यायालय-उपस्थिति आदेश) आदि कुछ प्रमुख रिट हैं । उच्चतम न्यायालय और उच्च न्यायालय अनुच्छेद 32 और अनुच्छेद 226 के तहत रिट जारी कर सकते है.यद्यपि उच्च न्यायालय का इस सम्बन्ध में न्यायिक में उच्चतम् न्यायालय से ज्यादा विस्तारित हैं।

error: Content is protected !!