‘पुरालेखशास्त्र’ का अभिप्राय है?

[1] सिक्कों का अध्ययन
[2] शिलालेखों का अध्ययन
[3] महाकाव्यों का अध्ययन
[4] भूगोल का अध्ययन

उत्तर: (2] शिलालेखों का अध्ययन

व्याख्या: अभिलेख या शिलालेख के अध्ययन को ‘पुरालेखशास्त्र’ कहते हैं। अभिलेख मुहरों, स्तूपों, चट्टानों और ताम्रपत्रों पर मिलते हैं ये मन्दिर की दीवारों और ईंटों या मूर्तियों पर उत्कीर्ण होते थे।

Leave a Comment