निम्नलिखित में से कौन-सा जोड़ा सही नहीं है?

[1] कृष्णदेव राय-अमुक्त माल्यद
[2] हर्षवर्धन-नागनंद
[3] कालिदास-ऋतुसंहार
[4] विशाखदत्त-किरातार्जुनीयम

उत्तर: (4] विशाखदत्त-किरातार्जुनीयम

व्याख्या: कालिदास के पश्चात् संस्कृत कवियों में भारवि का स्थान ऊँचा है उनकी एकमात्र रचना किरातार्जुनीयम् महाकाव्य है जिसकी कथावस्तु महाभारत से ली गयी है। इसमें अर्जुन तथा किरात वेषधारी शिव के बीच युद्ध का वर्णन है। विशाखदत गुप्तकाल की विभूति थे। इनके दो नाटक प्रसिद्ध हैं- मुद्राराक्षस तथा देवी चन्द्रगुप्तमा

Leave a Comment