नंद राजवंश का संस्थापक कौन था?

[1] धनानंद
[2] महेंद्र
[3] महापद्म नंद
[4] गजानंद

उत्तर: (3] महापद्म नंद

व्याख्या: यूनानी लेखकों का कथन है कि नंदवंश प्राचीन भारत का एक शूद्र राजवंश था जिसने पाँचवीं-चौथी शताब्दी ईसा पूर्व में उत्तरी भारत के विशाल भाग पर शासन किया। नंदवंश का प्रथम और सर्वप्रसिद्ध राजा महापद्मनंद हुआ। पुराणग्रंथ उसकी गिनती शिशुनाग वंश में ही करते हैं, किंतु बौद्ध और जैन अनुश्रुतियों में उसे एक नए वंश (नंदवंश) का प्रारंभकर्ता माना गया है, जो सही है। उसे जैन ग्रंथों में उग्रसेन (अग्रसेन) और पुराणों में महापद्मपति भी कहा गया है। पुराणों के कलियुग वृत्तांत वाले अंशों में उसे अतिबली, महाक्षत्रांतक और परशुराम की संज्ञाएँ दी गई हैं। नंदों की सेना में दो लाख पैदल, 20 हजार घुड़सवार, दो हजार चार घोड़े वाले रथ और तीन हजार हाथी थे। उसने अपने समकालिक अनेक क्षत्रिय राजवंशों का उच्छेद कर अपने बल का प्रदर्शन किया।

Leave a Comment