मृत्यानरहित नवपाषाणिक स्तर प्रकाश में आया है?

(a) चिरोंद से
(b) कोल्डिहवा से
(c) संगनकल्लू से
(d) गुफकराल से

Ans: [d) गुफकराल से

व्याख्या: मृत्यावरहित नवपाषाणिक स्तर गुफकराल से प्रकाश में आया है। चिरांद (बिहार प्रांत) से प्रचुर मात्रा में हड्डी के उपकरण प्राप्त हुए हैं।

Leave a Comment