एक बार स्पीकर सदा स्पीकर’ की परम्परा अपनाई जाती है ?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

(A) यू.के. में
(B) यू.एस.ए. में
(C) फ्रांस में
(D) भारत में

Ans: [A] यू.के. में

व्याख्या: यू.के. की संसद में एक बार स्पीकर सदा स्पीकर ‘की परम्परा अपनाई गई है। भारत में अनुच्छेद 93 के अंतर्गत लोकसभा अध्यक्ष (स्पीकर) तथा उपाध्यक्ष का उल्लेख किया गया है। लोकसभा के सदस्य अपने बीच से ही एक अध्यक्ष का चुनाव करते हैं, जो लोक सभा की बैठकों की अध्यक्षता करता है और उसके कार्यों को नियंत्रित करता है।

www.gkwiki.in

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now