भारत में वर्ण व्यवस्था किस लिए बनाई गई थी?

[1] श्रमिक गतिहीनता
[2] श्रम की गरिमा को मान्यता देने
[3] आर्थिक उत्थान
[4] व्यावसायिक श्रम विभाजन

उत्तर: (4] व्यावसायिक श्रम विभाजन

व्याख्या: भारत में वर्ण व्यवस्था व्यावसायिक श्रम विभाजन के लिए बनाई गई थी। ऋग्वेद के वर्ण शब्द रंग के अर्थ में तथा कहीं-कहीं व्यवसाय चयन के अर्थ में प्रयुक्त हुआ है। इस समय वर्गों में जटिलता नही आई थी। वर्ण जन्मजात न होकर व्यवसाय पर आधारित होते थे। व्यवसाय परिवर्तन सम्भव था। ऋग्वेद के एक स्थान पर एक ऋषि कहता है- ‘मैं कवि हूँ। मेरा पिता वैद्य हैं तथा मेरी माता अन्न पीसने वाली है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!