भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक?

(A) सेवानिवृत्ति के बाद यूपीएससी के सदस्य के रूप में नियुक्त किया जा सकता है
(B) राज्य लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया जा सकता है
(C) अपनी सेवानिवृत्ति के बाद केंद्र सरकार या राज्य सरकार के अधीन किसी और पद के लिए पात्र नहीं है
(D) सेवानिवृत्ति के बाद किसी भी कार्यालय में नियुक्त किया जा सकता है

उत्तर- [3] अपनी सेवानिवृत्ति के बाद केंद्र सरकार या राज्य सरकार के अधीन किसी और कार्यालय के लिए पात्र नहीं है

व्याख्या : भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक अपनी सेवानिवृत्ति के बाद भारत के वर्तमान सीएजी – राजीव महर्षि के सेवानिवृत्ति के बाद केंद्र सरकार या राज्य सरकार के अधीन किसी भी आगे के कार्यालय के लिए पात्र नहीं हैं।