बौद्ध साहित्य से संबंधित प्रमुख ग्रंथों का वर्णन कीजिए?

 

उत्तर: बौद्ध ग्रंथों में सबसे महत्वपूर्ण त्रिपिटक (शाब्दिक अर्थ टोकरी) है,जो ‘पालि भाषा में लिखे गये थे। पिटकों में ‘विनयपिटक’ में संघ सम्बन्धी नियम एवं आचार शास्त्र की शिक्षा दी गयी है। ‘सुतपिटक‘ में धार्मिक सिद्धान्त व बुद्ध के धर्मोपदेश दिए गए हैं। ‘अभिधम्मपिटक‘ में बौद्ध दर्शन सिद्धान्त की व्याख्या की गई है।

‘निकाय ग्रंथों में बौद्ध धर्म के सिद्धान्त व कहानियों का संग्रह दिया गया है। ‘जातक कथाओं’ में बुद्ध के पूर्व जन्मों की कथाएँ दी गयी है जो उसमें देवत्व की स्थापना करते हैं। इनके अतिरिक्त दीपवंश, महावंश ,मिलिन्दपन्होआदि पालि भाषा के प्रसिद्ध ग्रंथ हैं। बौद्धों के साहित्य में संस्कृत का प्रयोग कुषाण काल में हुआ और संस्कृत में बौद्ध साहित्य की रचना की गयी।

संस्कृत बौद्ध साहित्य की प्रमुख रचनाएं अनलिखित है- महावस्तु, कथावस्तु, ललितविस्तार, दिव्यावदान व अश्वघोष की रचनाएँ-सारिपुत्रप्रकरण, सौनदरानन्द, बुद्धचरित आदि ।