बाणभट्ट किस सम्राट के राजदरबारी कवि थे?

[1] विक्रमादित्य
[2] कुमारगुप्त
[3] हर्षवर्द्धन
[4] कनिष्क

उत्तर: (3] हर्षवर्द्धन

व्याख्या: बाण भट्ट, सम्राट हर्षवर्द्धन के दरबारी कवि तथा संस्कृत गद्य के विद्वान थे। वह हर्ष के दरबारी अष्टकवियों में से प्रमुख थे। इन्होंने हर्षचरित ‘कादम्बरी’ जैसी रचनायें की हैं। सम्राट हर्षवर्द्धन के शासनकाल की राजनीतिक सामाजिक, आर्थिक तथा सांस्कृतिक जानकारी बाणभट्ट की रचनाओं से होती है। हर्ष और पुलकेशिन द्वितीय के युद्ध होने का साक्ष्य भी बाणभट्ट की रचनाओं में मिलता है। ‘हर्षचरित’ संस्कृत में लिखी गयी हर्षवर्द्धन की जीवनी है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!